11-May-2020, Rohtak

रोहतक। एक बार फिर गलत कारणों की वजह से रोहतक का पीजीआई सुर्खियों में है। अखबारों की हेडिंग से लेकर आम लोगों की चर्चाओं में अब संस्थान के एक पीजी डॉक्टर का डबल सैलरी लेने का मामला सामने आया है। मीडिया में आई रिपोर्ट के अनुसार, सरकारी संस्थान से सैलरी लेने के अलावा पीजी डॉक्टर ने बॉक्सिंग फैडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से सैलरी ली और चार बार अवैध तरीके से विदेश यात्रा भी की।

बॉक्सिंग फेडरेशन के निदेशक प्रबंधन की एक मेल में खुलासा हुआ है कि पीजी ऑर्थो नेशनल बॉक्सिंग अकेडमी के जिला बॉक्सिंग कोचिंग कैंप में 2018 से कंस्लटेंट के पद पर तैनात है। लेकिन उनके पास मौजूद कागजात से ऐसा कोई सुबूत नहीं मिला है कि डॉक्टर साईं, एनबीए में रेगुलर या अनियमित रूप से तैनात है। इस संबंध में मांगी गई जानकारी को एकत्रित करेंगे और संस्थान को सूचित करेंगे। वह जांच करवाएंगे कि डॉक्टर ने कितनी सैलरी व भत्ते लिए हैं।

बताया जा रहा है कि डॉक्टर चार बार इंडियन बॉक्सिंग टीम के साथ विदेश में जूनियर व सीनियर विंग के साथ विदेश गया है। इसका सारा खर्च आने-जाने व ठहरने का फेडरेशन ने उठाया है। इसके साथ ही 25 डालर प्रतिदिन के हिसाब से पॉकेट मनी भी दी गई है। इस पूरे मामले को लकेर पीजीआईएमएस के रजिस्ट्रार डॉ एचके अग्रवाल ने कहा कि शिकायत के आधार पर पीजी डॉक्टर की जांच चल रही है। बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया से कार्रवाई के लिए कागजात मांगे गए हैं। बिना अनुमति किसी को विदेश जाने व एक समय में दो जगह वेतन लेने की अनुमति नहीं है। जांच में सब साफ हो जाएगा।

 

Share