13-May-2020, Rohtak

रोहतक। जिलाधीश आर.एस.वर्मा ने स्थानीय जनता कॉलोनी में कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति मिलने पर हरियाणा महामारी कोविड-19 नियम 2020 एवं महामारी अधिनियम 1897 की धाराओं-2,3 व 4 के तहत रोहतक नगर निगम के वार्ड-18 की जनता कॉलोनी में रामफल के मकान से शुरू होने वाली गली के कोने से पश्चिम की ओर कृष्णा रोहिल्ला के मकान तक, दक्षिण में वैश्य कॉलेज की बाउंड्री से बिजेंद्र के मकान तक, पूर्व में पप्पन के मकान तथा उत्तर में रामफल के मकान तक के हिस्से को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है।
जिलाधीश द्वारा जिला में कोविड-19 संक्रमण को फैलने से रोकने हेतु स्थानीय जनता कॉलोनी स्थित पवन गोयल के मकान से उत्तर की तरफ वैश्य गऊशाला, पश्चिम की तरफ गोशाला की चार दिवारी के साथ-साथ वैश्य शिक्षण संस्था के भवन तक, दक्षिण में कपिल के मकान से वैश्य शिक्षण संस्थान की चार दिवारी के साथ पड़ी खाली जगह के साथ-साथ, पूर्व दिशा में राजसिंह धनखड़ के मकान से उत्तर में गोयल जनरल स्टोर वाली गली व पुन: वार्ड नम्बर-18 की जनता कॉलोनी में स्थित पवन गोयल के मकान तक के क्षेत्र को बफर जोन घोषित किया गया है।
जिलाधीश द्वारा कोविड-19 संक्रमण पर नियंत्रण हेतु संदिग्ध व्यक्तियों की स्क्रीनिंग व टैस्ट, क्वारेंटाइन, आइसोलेशन, सोशल डिस्टेंसिंग एवं कंटेनमेंट जोन में आम जनता के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखने हेतु प्रभावी रूप से कार्य योजना लागू की गई है। रोहतक के उपमंडलाधीश को इंचार्ज नियुक्त किया गया है तथा संबंधित डयूटी मजिस्ट्रेट को विशेष कंटेनमेंट क्षेत्र का सुपरवाईजरी अधिकारी नियुक्त किया गया है तथा इस क्षेत्र में सभी प्रबंधों की निगरानी हेतु अधिकृत किया गया है। इस विशेष कंटेनमेंट जोन हेतु सिंचाई विभाग के एसडीओ संजीव कुमार को डयूटी मजिस्टे्रट कम सुपरवाइजरी अधिकारी नियुक्त किया गया है। कंटेनमेंट जोन की पहचान व घोषित करना एक गतिशील प्रक्रिया है, जिसकी हर पांच दिन बाद समीक्षा की जाएगी।
जिलाधीश द्वारा सिविल सर्जन को हिदायतें जारी की गई है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा संदिग्ध व्यक्तियों की स्क्रीनिंग तथा संदिग्ध मामलों की टेस्टिंग, क्वारेंटाइन, आइसोलेशन, सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य सभी एहितयात कदमों को कंटेनमेंट जोन में प्रभावी ढंग से लागू करने हेतु कार्य योजना तैयार करें। कंटेनमेंट जोन में प्रत्येक घर व प्रत्येक व्यक्ति की घर-घर जाकर स्क्रीनिंग/थर्मल स्कैनिंग के लिए पर्याप्त संख्या में टीमें गठित करें। इन टीमों के पूरे स्टॉफ को पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट तथा अन्य आवश्यक उपकरण उपलब्ध करवाए जाए ताकि सभी की स्क्रीनिंग/थर्मल स्कैनिंग की जा सके। हर परिवार के मकान के गेट, दरवाजों की कुंडी आदि को सही तरीके से सेनिटाईज किया जाए।
कंटेनमेंट एवं बफर जोन को रोहतक नगर निगम के आयुक्त द्वारा पूर्ण रूप से सेनिटाइज करवाया जाएगा तथा आयुक्त द्वारा इस रिहायशी क्षेत्र को पूर्ण रूप से सेनिटाइज करवाने हेतु नियुक्त किए गए स्टॉफ को पर्याप्त संख्या में पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट जैसे फेस मास्क, ग्लवस, कैप, सेनिटाइजर, जूते उपलब्ध करवाने के साथ-साथ सामाजिक दूरी के मापदंडों का भी अनुपालन करवाएंगे। कंटेनमेंट जोन के निवासियों की मूवमेंट को केवल आवश्यक सेवाओं व आपातकालीन मूवमेंट के अलावा प्रतिबंधित किया जाएगा। सम्पूर्ण कंटेनमेंट जोन को पर्याप्त संख्या मेंं पुलिस बल तैनात कर सील किया जाएगा तथा आवश्यकतानुसार नाके भी लगाए जाएंगे। रोहतक के उपमंडलाधीश द्वारा डीएसपी अथवा संबंधित एसएचओ के तालमेल के साथ कंटेनमेंट के क्षेत्र की सीमा निर्धारित की जाएगी तथा प्रवेश व निकास बिन्दुओं की पहचान करते हुए केवल मूलभूत सेवाओं व आपातकालीन मूवमेंट व जारी किए गए मूवमेंट पास धारकों को आने-जाने की अनुमति दी जाएगी।
जिलाधीश द्वारा जारी आदेशों के तहत पुलिस अधीक्षक से मशवरा करने के उपरांत लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता द्वारा कंटेनमेंट जोन में आवश्यक बैरिकेडिंग करवाई जाएगी। सिविल सर्जन द्वारा पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट व आवश्यक दवाईयों का नियंत्रण कक्ष में पर्याप्त स्टॅाक सुनिश्चित किया जाएगा। रोहतक के सिविल अस्पताल को कंटेनमेंट/आइसोलेशन/कोविड अस्पताल घोषित किया गया है तथा सिविल सर्जन द्वारा किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने हेतु सभी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाना सुनिश्चित किया जाएगा। हरियाणा परिवहन के महाप्रबंधक द्वारा स्वास्थ्य टीमों हेतु पर्याप्त संख्या में बसे तैनात की जाएगी जो सिविल अस्पताल से कंटेनमेंट जोन व बफर जोन में घर-घर जाकर लोगों की स्क्रीनिंग व थर्मल स्कैनिंग करने वाली स्वास्थ्य विभाग की टीमों को अपने गंतव्य तक पहुंचाएगी।
जारी किए गए आदेशों के तहत आवश्यक वस्तुओं की मांग जैसे कच्चा राशन, दूध, दालें, दवाईयां, सब्जी आदि की सूची रोहतक के उपमंडलाधिकारी (नागरिक) द्वारा जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक तथा नगर निगम रोहतक के आयुक्त के साथ बातचीत करके तैयार की जाएगी। सब्जी, राशन, दालें, दूध आदि के अलग पैकेट तैयार किए जाएंगे तथा घर द्वार पर इनकी डिलीवरी सुनिश्चित की जाएगी। डिलीवरी करने वाले व्यक्ति पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट पहनेंगे तथा इन पैकेटस को स्वयं घर द्वार तक पहुंचाएंगे। यह व्यक्ति घर के अंदर प्रवेश नहीं करेंगे तथा परिवार के किसी व्यक्ति के साथ शारीरिक सम्पर्क भी नहीं करेंगे। संबंधित अधिकारी द्वारा प्रतिदिन आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करवाई जाएगी।
जिलाधीश द्वारा जारी आदेशों के तहत उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के अधीक्षक अभियंता द्वारा कंटेनमेंट जोन में निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता द्वारा नियमित रूप से शुद्घ पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। सिविल सर्जन द्वारा पर्याप्त संख्या में एम्बूलेंस एवं पैरामैडिकल स्टॉफ की तैनाती की जाएगी। डयूटी पर तैनात सभी अधिकारी व कर्मचारी निपुणता के साथ अपने कत्र्तव्य का निर्वहन करेंगे तथा किसी प्रकार की कोताही बरतने वाले अधिकारी/कर्मचारी के विरूद्घ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Share