6-Feb-2020, Rohtak

जेल और बिजली मंत्री चौधरी रणजीत सिंह ने साफ किया है कि डेरा सच्चा सौदा के गुरमीत राम रहीम को रोहतक जेल से कहीं और शिफ्ट करने का कोई विचार नहीं है। उनकी जान को खतरा है, खालिस्तानी आतंकियों की ओर से धमकियां मिल चुकी हैं। सरकार कोई रिस्क नहीं ले सकती। गृह मंत्रालय की पूरे मामले पर नजर है, उनकी सहमति के बिना सरकार कुछ नहीं करेगी। यह जानकारी उन्होंने एक प्रेस कांफ्रेंस में दी।

मोबाइल मिला तो नपेंगे जेल अधीक्षक
जेल और बिजली मंत्री चौधरी रणजीत सिंह ने कहा है कि जेलों में मोबाइल और सिम कार्ड मिलने को लेकर सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। मोबाइल मिलने पर जेल अधीक्षक और उपअधीक्षक पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जेलों में मोबाइल, सिम कार्ड मिलने की घटनाओं को लेकर सरकार गंभीर है। ऐसा होने पर जेल अधिकारियों की जवाबदेही तय की जाएगी। वे जांच में बताएंगे कि दोषी कौन है।

जेलों को लेकर कई सुधारों पर विचार किया जा रहा है। कैदियों को अच्छा ट्रीटमेंट और खाना मिले, मुलाकात करने आने वालों को दिक्कत न आए, इसका ध्यान रखा जाएगा। जल्द इनकी घोषणा की जाएगी। पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह केंद्र में प्रचंड बहुमत से सरकार बनने की बधाई और मंत्रिपद देने के लिए आभार जताने गए थे।

Share